Monday, December 8, 2008

कौन चलाये मिल का पहिया

This is the most wonderful :

कौन चलाये मिल का पहिया

कौन चलाये मिल का पहिया,मेहनत वाला हैय्या हैय्या,

कौन कमाए टका रुपैया,मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

कौन बिछाए ये हरया वल,कौन उगाए गेहूं चावल,

गन्ना,सरसों,तोरी,घिया,मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

कौन बुने ये लट्ठा खद्दर,तहमद,कुरता,चोली,चद्दर,

कौन सभी को करे मुहैय्या, मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

अब तक जो मजलूम रहा है, दुःख जिस का मक़्सूम रहा है,

आया उस का दौर है भैय्या, मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

अपनी खेती आप ही मालिक,अपनी मिल है आप ही चालक ,

अपनी कश्ती आप खेवय्या,मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

ख़त्म हुई बेगार गुलामी,आई है सरकार अवामी,

मरती है खर्कार की मैय्या,मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

जागे हैं हारी बेगारी, मजदूरों की आयी बारी,

बदलेगा अब सेठ रुइय्या ,मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

हम भी इन का हाथ बताएं, हम भी एन के आड़े आयें,

इंशाजी हाँ करो तिहैय्या ,मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

हम भी इन्हीं की मेहनत खाएं, आज से इनकी महिमा गाएं,

इंशाजी हाँ,करो तिहैय्या,मेहनत वाला हैय्या हैय्या।

8 comments:

ई-गुरु राजीव said...

हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

शुभकामनाएं !


ब्लॉग्स पण्डित - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

ई-गुरु राजीव said...

आपका लेख पढ़कर हम और अन्य ब्लॉगर्स बार-बार तारीफ़ करना चाहेंगे पर ये वर्ड वेरिफिकेशन (Word Verification) बीच में दीवार बन जाता है.
आप यदि इसे कृपा करके हटा दें, तो हमारे लिए आपकी तारीफ़ करना आसान हो जायेगा.
इसके लिए आप अपने ब्लॉग के डैशबोर्ड (dashboard) में जाएँ, फ़िर settings, फ़िर comments, फ़िर { Show word verification for comments? } नीचे से तीसरा प्रश्न है ,
उसमें 'yes' पर tick है, उसे आप 'no' कर दें और नीचे का लाल बटन 'save settings' क्लिक कर दें. बस काम हो गया.
आप भी न, एकदम्मे स्मार्ट हो.
और भी खेल-तमाशे सीखें सिर्फ़ 'ब्लॉग्स पण्डित' पर.
यदि फ़िर भी कोई समस्या हो तो यह लेख देखें -


वर्ड वेरिफिकेशन क्या है और कैसे हटायें ?

अशोक मधुप said...

हिंदी के लिखाड़ियों की दुनिया में आपका स्वागत। खूब लिखे। अच्छा लिखे । नाम कमाएं। हार्दिक शुभकामनायें। कृपया सैटिंग मे जाकर वर्ड वैरिफिकेशन हटा दें।

प्रकाश बादल said...

swaagat aapakaa khoob likhen

दिगम्बर नासवा said...

अच्छी ग़ज़ल को सामने लाने का शुक्रिया

रचना गौड़ ’भारती’ said...

आपने बहुत अच्छा लिखा है ।
भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है।
लिखते रहि‌ए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
मेरे द्वारा संपादित पत्रिका देखें
www.zindagilive08.blogspot.com
आर्ट के लि‌ए देखें
www.chitrasansar.blogspot.com

संगीता पुरी said...

आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है.....आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे .....हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर said...

हिन्दी ब्लॉग जगत में प्रवेश करने पर आप बधाई के पात्र हैं / आशा है की आप किसी न किसी रूप में मातृभाषा हिन्दी की श्री-वृद्धि में अपना योगदान करते रहेंगे!!!
इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए!!!!
स्वागतम्!
लिखिए, खूब लिखिए!!!!!


प्राइमरी का मास्टर का पीछा करें